जिला प्रशासन अवधारणा तथा उद्भव (भाग – 1)

  1. आधुनिक समय में जिला प्रशासन को किसकी इकाई माना जाता है – क्षेत्रीय प्रशासन

2. पंचायती राज व्यवस्था के क्रियान्वयन में राज्य प्रशासन की जवाबदेही का निर्माण किसके द्वारा किया जाता ?- जिला प्रशासन

  • लोक प्रशासन की दृष्टि से भारत में जिला प्रशासन एक दोहरी इकाई है
  • एक तरफ जिला प्रशासन की क्षेत्रीय इकाई हैं तो दूसरी तरफ यह पंचायती व्यवस्था के प्रभावी होने से संघीय सरकार के विकास की प्रशासनिक इकाई बन गई है

3. जिलाधिकारी के क्षेत्राधिकार में है।

  • विकास, – सुरक्षा, – नियामकीय
  • सामाजिक और राजनीतिक जीवन के दो महत्वपूर्ण कार्य सुरक्षा एवं विकास जिला प्रशासन की परिधि में आ जाते हैं

4. जिलाधीश पद का सृजन किसने किया ? – लॉर्ड वॉरेन हेस्टिंग्स

1772 ई. में वॉरेन हेस्टिंग्स ने भारत में पहली बार जिला कलेक्टर के पद का सृजन किया

5. ब्रिटिश शासन काल में जिला कलेक्टर का प्रमुख कार्य था

  • कानून और व्यवस्था कायम करना
  • राजस्व वसूली
  • शांति कायम करना

6. जिलाधीश के बारे में सही कथन है

  • संघ लोक सेवा आयोग द्वारा भर्ती
  • भारत सरकार द्वारा सेवा शर्तों का नियम
  • राज्य का सामान्य नियंत्रण
  • अनुच्छेद 311 के द्वाराउनके कार्यकाल की सुरक्षा प्रदान की गई है।
  • केंद्र सरकार की अनुमति के बिना उन्हें निलंबित नहीं कियाजा सकता और ना ही पदन्नवत किया जा सकता है।

7. भारत में जिला अधिकारी निर्वाचन अधिकारी के रूप में चुनाव के समय निर्वाचन अधिकारी होता है

लोकसभा चुनाव, – विधानसभा, – स्थानीय निकायों

8. अधिकारी संसदीय और विधानसभा चुनावों के लिए निर्वाचन अधिकारी का काम करता – जिला कलेक्टर या जिलाधीश

9. जिला अधिकारी किस उत्तरदायित्व के रूप में कार्य करता है –

  • निर्वाचन अधिकारी के रूप में
  • जिला जनगणना अधिकारी के रूप में
  • आपदा निवारण अधिकारी के रूप में

10. जिला विकास अधिकारी के रूप में कलेक्टर किससे जुड़ा है – पंचायती राज

पंचायती राज की स्थापना तथा सामुदायिक विकास कार्यक्रम के फलस्वरूप कलेक्टर जिला विकास अधिकारी के रूप में कार्य करने लगा है।

Research Methodology: – Social Science Research (Part – 3)

11. किस समिति ने जिलाधीश को विकास कार्यों से पृथक कर उन्हें एक नए पद को सौंपने की अनुशंसा की – अशोक मेहता समिति

अशोक मेहता समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि जिला स्तर पर एक मुख्य कार्यपालक अधिकारी का पद निर्मित किया जाए जिसके नियंत्रण में जिले का विकास संबंधी समस्त प्रशासन रहेगा।

12. किस समिति ने कलेक्टर के विकास तथा नियमकियपदों में विभाजन करने की सिफारिश की थी? – कार्ड समिति

जिला स्तर पर कलेक्टर को लागू सरकार कहा जाता है अर्थात all-in-one आ गया है।

13. प्रसिद्ध लखीना योजना किस सुधार से संबंधित है? – जिला प्रशासन से

  • इस सुधार का मुख्य ध्येय जिला प्रशासन को दायित्व पूर्ण बनाना और प्रशासन की नकारात्मक छवि को बदलना है
  • अहमदनगर के तत्कालीन कलेक्टर श्री अनिल कुमार लखीना ने अपने जिला कार्यालय में वर्ष 1984 में एक सुधार योजना लागू करके पूरे देश का ध्यान आकर्षित किया।
  • लखीना सुधार योजना के तीन प्रकार में सुधार पर ध्यान दिया गया
  • नागरिक क्लर्क संबंधों का नवीनीकरण
  • कार्यालय प्रक्रिया को सरल करना जिससे फाइलें और रिकॉर्ड आसानी से उपलब्ध हो जाए
  • कार्यालय कर्मीको के लिए अनुकूल परिस्थितियां तथा चुस्त भौतिक परिवेश

14.  जिले में राजस्व प्रशासन का आधार है – पटवारी या लेखपाल

15.  “जिले में राजस्व प्रशासन का आधार लेखपाल को माना गया है” – एस. एस खेरा

16.  अनुसूचित जाति या जनजाति क्षेत्र के प्रशासन के लिए किस भाग में प्रावधान किया गया है? – भाग 10 में

  • संविधान के भाग 10 तथा अनुच्छेद 244 में कुछ ऐसे क्षेत्रों में जिन्हें अनुसूचित क्षेत्र और जनजाति क्षेत्र नामित किया गया है
  • भारत में किसी भी क्षेत्र को अनुसूचित क्षेत्र घोषित करने का अधिकार राष्ट्रपति के पास होता है।
  • संविधान की पांचवीअनुसूची में राज्यों के अनुसूचित क्षेत्र एवं अनुसूचित जनजातियों के प्रशासन एवं नियंत्रण के बारे में चर्चा की गई है

17. स्वायत्त जिला परिषद का प्रावधान संविधान की किस अनुसूची में किया गया है। – छठी अनुसूची में

Administrative adjudication

18. संविधान की छठी अनुसूची में जनजाति लोगों के लिए क्या प्रदान किया गया है? – एक स्वायत्त जिला परिषद का गठन

19. किसे स्वशासी जिलों को स्थापित या पुनर्स्थापित करने का अधिकार है? – राज्यपाल को

  • प्रत्येक 87 जिले के लिए एक जिला परिषद होगी जो 30 सदस्यों से मिलकर बनेगी
  • इन 30 सदस्यों में 4 सदस्य को राज्यपाल नामित करेंगे और 26 सदस्य व्यस्क मताधिकार के आधार पर निर्वाचित किए जाएंगे
  • स्वायत्त जिला परिषद के निर्वाचित सदस्यों का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है
  • राज्यपाल द्वारा मनोनीत सदस्यों का कार्यकाल निर्धारित नहीं है वे राज्यपाल के प्रसाद पर्यंत पद पर रहेंगे

20. मिजोरम राज्य के कौन से क्षेत्र हैं जहां स्वायतजिला परिषद का गठन किया गया है। – चकमा जिला, मारा जिला, लाई जिला

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *