शोध प्राविधि:-सामाजिक विज्ञान अनुसन्धान (भाग – 5)

81. कथन (A) परिवत्य को कारण रूप में परिचालित कर उससे उत्पन्न प्रभावों का कार्य रूप में अध्ययन संभव नहीं है।

कारण (R) मूलभूत अनुसंधान का मुख्य उद्देश्य नई संरचनाओं का निर्माण करना है।

  • A और R दोनों सही है, तथा R, A की सही व्याख्या है।

82. कथन (A) शोध की निष्पक्षता इस बात पर आधारित होती है, कि उसकी व्याख्या एक तथ्य आधारित नहीं है।

कारण (R) क्योंकि शोध की विश्वसनीयता प्रभावित हो सकती है।

  • A और R दोनों सही है, तथा R, A की सही व्याख्या है।

83. चारों के माध्यम कारणात्मक सम्बन्ध का संकेत देने वाली परिकल्पना के परीक्षण के लिए संचालित शोध अध्ययन को कहा जाता है – प्रयोगमूलक अध्ययन

84. प्रतिबिंबित वैज्ञानिक पद्धति

  • विज्ञान कभी भी किसी चीज को आरोपित नहीं करता, विज्ञान उल्लेख करता है। विज्ञान का लक्ष्य अपने उद्देश्यों को सही बनाने तथा उनके विषय में पर्याप्त वक्तव्य देने के अतिरिक्त और कुछ नहीं है।नैतिक तटस्थता

85. शोध समस्या के निरूपण हेतु कौन- सी स्थितियाँ सहायक होती है?

  • प्रसांगिक साहित्य का अध्ययन
  • स्वयं प्रत्यक्ष प्रेक्षण
  • अनुभव सर्वेक्षण करना

86. कार्ल पियर्सन के अनुसार विज्ञान का जीवन रक्त? – आलोचना

87. परिकल्पना के विषय में सही है

  • परिकल्पना एवं संकल्पनात्मक रूप से स्पष्ट होती हैं
  • यह किसी सिद्धांत पिंड से संबंधित होती हैं
  • यह अनुभव द्वारापरीक्षणीयहोती है।

88. “विज्ञान जीवन के लिए है जीवन विज्ञान के लिए नही” – रॉबर्ट एण्ड लिण्ड

सार्वजनिक प्रशासन का महत्व

89. उपयोग में लाने योग्य परिकल्पना

  • यह अवधारणात्मक रूप से स्पष्ट होनी चाहिए।
  • इसका अनुभवमूलक संदर्भ होना चाहिए।
  • यह सामान्य होना चाहिए

90. जॉनसन द्वारा वैज्ञानिक पद्धति की विशेषता

  • यह नीतिपरक है
  • यह सैद्धांतिक है
  • यह संचयी है।

91. अनुभाविक आधारित सामान्य कथनों के माध्य तार्किक परीक्षण ग्रहित एवं विद्यमान संबंधों को जानने के उद्देश्य वाली परिकल्पनाओं को किस रूप में जाना जाता है? – जटिल आदर्श रूपआत्मक परिकल्पनाएँ

92. किस कारण से प्रयोगात्मक परिकल्पना की जांच संबंधित अनुसंधान में प्रयोगात्मक त्रुटि होती है? – बह्मा चर

93. एक प्रस्ताव जिसे उसकी मान्यता के निर्धारण हेतु परीक्षण के लिए रखा जाता है, किस रूप में परिभाषित किया जाता है? – परिकल्पना

94. वैज्ञानिक विधि की विशेषता

  • अनुभाविक प्रमाणों पर निर्भरता
  • सामान्यता
  • सम्भात्यता पर आधारित भविष्यवाणी

95. शोध अध्ययन में साहित्य का पुनरावलोकन किससे संबंधित ?

  • उसी विषय पर हुए पूर्व अनुसंधान का विश्लेषण
  • प्रकाशित सामग्री का पठन तथा विश्लेषण
  • पूर्व प्रकाशित विचारों का एकत्रीकरण

96. वैज्ञानिक अनुसंधान की विशेषता

  • वस्तुनिष्ठता
  • सत्यपनियता
  • क्रमबद्धता

97. शोध पत्र लिखते समय अंतिम टिप्पण (एण्ड नोट) तथा पाद टिप्पण के (फुटनोट) बारे में

  • अंतिम टिप्पण ग्रंथ सूची के पूर्व शोधपत्र के अंत में दिया जाता है
  • ये अतिरिक्त जानकारी शामिल किए जाने के साधन है।
  • अंतिम टिप्पण तथा पाद टिप्पण का उपयोग पाठक को विचार का स्रोत के लिए किया जाता है

98. एक उपयोगी उपकल्पना के प्रतिपादन के संबंध में

  • सैद्धांतिक ढांचे की स्पष्ट समझ होनी चाहिए
  • सैद्धांतिक ढांचे को तार्किक रूप से उपयोग करने हेतु शोधकर्ता क्षमता होनी चाहिए
  • शोधतकनीकों की जानकारी होनी चाहिए, ताकि उपकल्पना को उचित तरीके से व्यक्त किया जा सके।

99. शोध अध्ययन का एक स्वरूप जिसका उद्देश्य इसमें शामिल विशेष क्षेत्र समस्याओं तथा महत्वपूर्ण चरों का पता लगाना है– पायलट अध्ययन

June – 2017

100. “ज्ञान के लिए ज्ञान संग्रहण को शुद्ध या मूलभूत शोध कहते हैं” – पॉलइनवी. यंग

शोध प्राविधि:-सामाजिक विज्ञान अनुसन्धान (भाग – 4)

101. समुचित शोध अभिकल्प तैयार करने के लिए ध्यान में रखे जाने वाले कारकों के बारे में

  • शोध की समस्या के प्रकार, जिसका अध्ययन किया जाएगा।
  • सूचना प्राप्त करने के तरीके
  • शोधार्थी के कौशलों की उपलब्धता

102. वैयक्तिक अध्ययन को “एक व्यक्ति, एक समूह, एक सामाजिक संस्था, एक जिला अथवा एक समुदायरूपी सामाजिक इकाई के व्यापक अध्ययन के रूप में”- पॉलइनवी. यंग

103. व्यवहारपरक दृष्टिकोण तर्क देता है-

  • समुदाय स्तर विश्लेषण
  • क्षेत्र में आंकड़ों का अनुभाविक अध्ययन
  • मूल्य रहित वैज्ञानिक पद्धति

Nov – 2017

104. “आलोचना विज्ञान की प्राणशक्ति है”कार्लपियर्सन के इस वाक्यांश द्वारा संदर्भित वैज्ञानिक विधि की विशेषता – निर्णय की जांच करने वाली लोक कार्यप्रणाली

105. प्रयोज्य परिकल्पना की विशेषता

  • इसे अनुभाविक रूप से जांच योग्य होना चाहिए
  • इसे विशिष्ट होना चाहिए
  • इसे सिद्धांत के मुख्य भाग से संबंधित होना चाहिए

106. अनुसंधान कार्य प्रणाली में पूर्व परीक्षण से क्या अभिप्राय है? – आँकड़े संग्रहण उपकरणों की जांच

July – 2018

107. “विज्ञान विचारों के समूह और प्रघटनाओं के समूह के मध्य संबंधों को खोजने का मानव मस्तिष्क का प्रयास है” – जे. जे. थॉम्पसन

108. कौन सा सिद्धांत प्रायोगिक शोध अभिकल्प आधारित अध्ययन में बाध्य कारकों के प्रभावों से संरक्षण प्रदान करता है? यादृच्छिकीकरण का सिद्धांत

109. प्रयोज्य परिकल्पना की विशेषता

  • परिकल्पना को किसी सिद्धांत के रूप से संबंधित होना चाहिए।
  • परिकल्पना को अनुभविक दृष्टि से परीक्षण योग्य होना चाहिए।
  • परिकल्पना विशेषिकृतहोने चाहिए।

110. वैज्ञानिक पद्धति की विशेषता

  • अनुभवजन्य साध्यों पर निर्भरता
  • वस्तुनिष्ठता के प्रति वचनबद्धता
  • सामान्यता

111. फेरेल हैंडी के अनुसार, “केंद्र-बिंदु अपने केंद्रित विषय के बारे में अधिक स्पष्ट है तथा प्रशासनिक तंत्र के कतिपय विशेष संघटकों अथवा विशेषताओं पर ध्यान केंद्रित करता है – मध्य स्तरीय सिद्धांत सूत्रीकरण

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *