संयुक्त राज्य अमेरिका का राष्ट्रपति

संयुक्त राज्य अमेरिका का राष्ट्रपति

संयुक्त राज्य अमेरिका में अध्यक्षात्मक शासन प्रणाली है। यहां का राष्ट्रपति वास्तविक तथा नाम मात्र की कार्यपालिका है। मंत्री परिषद के सदस्य शक्तिशाली नहीं होता वरन् उसके द्वारा नियुक्त तथा पद मुक्त किए जा सकते हैं। संयुक्त राज्य की राजनीतिक कार्यपालिका के दो अंग है – राष्ट्रपति और मंत्रिमंडल। इसमें राष्ट्रपति प्रमुख है तथा मंत्रिमंडल उसका सहायक है। संयुक्त राज्य अमेरिका का राष्ट्रपति होने के नाते वह विश्व का भी विषेश नेता बन जाता है। अमेरिका के राष्ट्रपति की कार्यपालिका शक्तियाँ असीम होती है। वह देश की विदेश नीति का निर्धारण एवं विदेशों में देश का प्रतिनिधित्व करता है। आपातकाल की स्तिथि मे वह और भी असीम शक्तियों का स्वामी बन जाता है।

संयुक्त राज्य अमेरिका का राष्ट्रपति

अमेरिका का राष्ट्रपति (President of the United States of America (POTUS) अमेरिका का राष्ट्रपति अमेरिका का सर्वोच्च सत्ता धारी एवं कार्यपालिका का वास्तविक स्वामी होता है। उसका कार्यकाल 4 वर्ष का होता है। अमरीकी संविधान के अनुच्छेद 2 (4) के मुताबिक अमेरिका के राष्ट्रपति को महाभियोग द्वारा ही हटाया जा सकता है। राष्ट्रपति पर महाभियोग देशद्रोह, भष्टाचार या किसी घोर अपराध पर ही लगाया जा सकता है।

लोक प्रशासन का परिचय (भाग – 3)

1787 ई. के फिलाडेल्फिया सम्मेलन में मुख्य कार्यपालिका की शक्ति एवं स्थिति में मतभेद रहा। वंश परंपरागत हो या निर्वाचित अधिकारी हो, निर्वाचन प्रत्यक्ष किया जाए अथवा अप्रत्यक्ष किया जाए परामर्शदाता परिषद् रखी जाए अथवा नहीं रखी जाए, मुख्य कार्यपालिका को व्यवस्थापिका के अधीनस्थ बनाया जाए आदि अन्य प्रश्न गंभीर वाद-विवाद का विषय बने। विभिन्न संवैधानिक प्रावधानों द्वारा एक शक्ति संपन्न राष्ट्रपति पद की स्थापना की गई जो शक्ति, एकता स्थायित्व, उत्तरदायित्व एवं जन समर्थन का समन्वित रूप हो।

राष्ट्रपति पद को इतनी प्रतिष्ठान, शक्ति और प्रभाव सौंपा गया जो प्रथम पदाधिकारी वाशिंगटन की प्रतिष्ठा के अनुरूप था। जार्ज वाशिंगटन को संयुक्त राज्य अमेरिका के एक महान व्यक्ति के रूप में माना जाता है। कालांतर में अनेक राष्ट्रिय एवं अंतरराष्ट्रीय अधिकारियों परिस्थितियों, पदाधिकारियों के व्यक्तित्व, वैज्ञानिक तथा तकनीकी विकास और कांग्रेस की शक्ति ह्लास ने राष्ट्रपति को शक्ति संपन्न बना दिया है।

स्टाफ एजेंसियों के कार्य

ऑग के शब्दों में, “अमेरिका का राष्ट्रपति विश्व का सबसे महान शासक हो गया है”

मुनरो के अनुसार, “अब तक एक लोकतन्त्र में किसी व्यक्ति में इतनी अधिक सकता का प्रयोग नहीं किया जितना अमेरिका का राष्ट्रपति करता है।”