शोध प्राविधि:-सामाजिक विज्ञान अनुसन्धान (भाग – 3)

41. वैज्ञानिक विधि किस प्रकार कार्य करती है – निरिक्षण पर

  • सर्वप्रथम ब्रह्माण्ड के किसी घटक या घटना का निरिक्षण किया जाता है।
  • एक सम्भावित परिकल्पना की जाती है, जो प्राप्त आँकड़ो से मेल खाती हो।
  • परिकल्पना के आधार पर कुछ भविष्यवाणीयाँ की जाती है।

42. सामाजिक विज्ञान अनुसन्धान के उद्देश्य है – नए तथ्यों की खोज

  • पुरातन तथ्यों का सत्यापन करना एवं नविन तथ्यों को प्रस्तुत करना इसका उद्देश्य होता है। विभिन्न चरों के बिच सम्बन्धो को ज्ञात करना होता है।
  • ज्ञान का विस्तार करना तथा प्राप्त ज्ञान के आधार पर सिद्धांत का निर्माण करना है।
  • सामाजिक शोध से प्राप्त सूचनाएँ सामाजिक निति तथा जीवन के गुणवता में सुधर करके सामाजिक समस्याओं का समाधान करना इसका प्रमुख उद्देश्य है।

43. सामाजिक विज्ञान अनुसन्धान में निष्पक्षता के लिए क्या जरुरी है? – बिना पूर्वाग्रह तथ्यों की प्रमाणिकता

44. सुमेलित

  • क्रियात्मक अनुसन्धान              सामुदायिक जीवन
  • परिचालन अनुसन्धान               प्रशासनिक समस्या
  • निरिक्षण                                घटना का ध्यानपूर्वक समय
  • निगमन                                  गुणों के बारे में अनुमान

45. सुमेलित

  • अनुसन्धान का उद्देश्य      –        नविन तथ्य को उद्धारिता
  • अनुसन्धान का महत्त्व       –        पूर्वाग्रह का निदान
  • प्रयोगात्मक शोध             –        उत्पन्न प्रभावों का निरिक्षण
  • शोध का तत्व                 –        समस्या को कारण को जानना

46. सुमेलित

  • प्रयोगात्मक शोध             –        चरों व उनके प्रभावों की जाँच
  • व्यावहारिक शोध             –        व्यावहारिक समस्याओं का समाधान निकालना
  • सामाजिक शोध              –        सामाजिक सम्बन्धों का अध्य्यन
  • मुलभुत शोध                  –        व्यवहारिक शोध का आधार तैयार करना

47. शोध क्रमानुसार

निरिक्षण – वर्णन – प्रयोगीकरण – कार्य – विवेचन

शोध प्राविधि:-सामाजिक विज्ञान अनुसन्धान (भाग – 2)

48. सुमेलित

  • मैथड्स इन सोशल रिसर्च                     –        गुडे एवं हाट
  • द रोमान्स ऑफ रिसर्च                        –        रैडमैन और मोरी
  • सोशल थ्योरी एंड सोशल स्ट्रक्चर                  बीसैज
  • मॉडर्न सोसाईटी                                 –        विलमैन एंड एटोन
  • साइंटिफिक स्टडी ऑफ ह्यूमन सोसाइटी  –        एफ एच गिडिंग्स
  • फील्ड प्रोजेक्ट फॉर सोशियोलॉजी                   –        रॉबर्ट के मर्टन

49. डॉ सुरेन्द्र सिंह की पुस्तक सामाजिक अनुसन्धान में शोधकर्ता को किन प्रश्नों को स्वयं से पूछने के लिए कहा गया है

  • शोध की समस्या के विषय में उसकी कितनी जानकारी है।
  • जानकारी के विभिन्न स्त्रोत तथा उनकी विश्वसनीयता एवं प्रमाणिकता।
  • जानकारी प्राप्त करने के साधन एवं स्त्रोतों का प्रयोग।

50. सुमेलित

  • कार्ल पियर्सन                 –        समस्त विज्ञान की एकता उसकी पद्धति में है न कि विषय सामग्री में
  • गुडे एवं हाट                             –        विज्ञान समस्त अनुभवसिद्ध संसार के प्रति दृष्टिकोण की एक पद्धति है।
  • चेंज                             –        विज्ञान पद्धति के साथ चलता है विषय-वस्तु के साथ नहीं
  • लुण्डबर्ग                       –        वैज्ञानिक पद्धति व्यवस्थित आवलोकन वर्गीकरण एवं निर्वाचन है

51. सुमेलित

  • एलीमेन्ट ऑफ रिसर्च                                    –                 ह्विटनी
  • सोशल रिसर्च                                             –                 जी ए लुण्डबर्ग
  • अमेरिकन जनरल ऑफ सोशियोलॉजी             –                 बर्गेस
  • द लोकल सोशलसर्वेब्रिटेन                              –                 वेल्स

52. सामाजिक शोध किसे कहते हैं – समूह और  अन्तक्रियाएँ

सामाजिक विज्ञान अनुसंधान मानव व्यवहार के अध्ययन तथा उनसे जुड़े प्रश्नों के उत्तर देने का काम करता है इसके द्वारा हमें मानव व्यवहार से जुड़ी स्पष्ट और अस्पष्ट घटनाओं को समझने में आसानी होती है

53. मूलभूत अनुसंधान का मुख्य उद्देश्य संरचनाओं का निर्माण करना है – एंड्रीआस

प्रत्यायोजित कानून

54. एक शोध अभिकल्प आंकड़ों के संकलन तथा विश्लेषण के लिए उन दशाओं का प्रबंध करती है – कुक

55. विज्ञान का अर्थ ज्ञान प्राप्त करने का व्यवस्थित तरीका या कुशल खोज है – एकॉफ

56. समस्त विज्ञान की एकता केवल उसकी पद्धति में है ना कि उसकी विषय सामग्री में है – कार्ल पियर्सन

57. उपकल्पना दो या दो से अधिक चरों के सम्भाव्य संबंध के विषय में होता है – करलिंगर

58. सामाजिक सर्वेक्षण का उद्देश्य

  • जीवन दशाओं का अध्ययन
  • प्रघटनाओं का यथार्थ वर्णन

59. समाजशास्त्री

  • ट्वाइन केयर        –        विज्ञान में तथ्यों की वही भूमिका है जो मकान में ईंट एवं पत्थर की है
  • चर्चमैन एवं एकॉफ़  –        विज्ञान का अर्थ ज्ञान प्राप्त करने का व्यवस्थित तरीका है
  • ऑगस्टाकॉमटे      –        वैज्ञानिक पद्धति में धर्म दर्शन या परिकल्पना का कोई स्थान नहीं होता है
  • कार्ल पियर्सन       –        विज्ञान की एकता केवल उसकी पद्धति में है

60. शोध अभिकल्प का कार्य है–

  • यह शोधकर्ता को समाजिक प्रश्नों के अध्ययन की रूपरेखा प्रदान करता है
  • यह शोध कार्य का क्षेत्र निर्धारित करता है

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *