मानव अपनी प्रतिभा की परख कर सफल हो सकता है

मानव अपनी प्रतिभा की परख कर सफल हो सकता है। हर इंसान की कुछ विशेषताएं होती हैं। दुनिया में दो तरह के लोग होते हैं, पहला वो जो अपनी प्रतिभा को जानते हैं। दूसरे वे जो अपनी प्रतिभा अनभिज्ञ रहते है। पहली की स्थिति दूसरी की स्थिति से बेहतर है। चूंकि हर कोई कड़ी मेहनत करता है, लेकिन जो लोग अपनी प्रतिभा को जानते हैं वे उस दिशा में काम करते हैं जो उन्हें एक निश्चित रास्ते पर ले जाता है। वे लोग जो नहीं जानते हैं कि उनके पास किस क्षेत्र में काम करने का कौशल है, फिर अपना समय और काम खो देते हैं।

मानव व्यवहार का दोहरा व्यक्तित्व

जीवन में अपना भविष्य निर्धारित करने से पहले व्यक्ति को आत्मनिरीक्षण अवश्य करना चाहिए। दुनिया में कोई भी हमें खुद के रूप में ज्यादा नहीं जानता है। महत्वपूर्ण बात यह है कि मनुष्य दूसरों से बहुत जल्दी प्रभावित होता है। यदि आप किसी अन्य क्षेत्र में एक सफल व्यक्ति को देखते हैं, तो उसकी भौतिक समृद्धि, वैभव, आनंद, आदि। वह उस क्षेत्र से आकर्षित होता है और उस क्षेत्र में अपना भविष्य खोजने का इरादा रखता है। इस समय वह यह भी आश्चर्य नहीं करता कि उस क्षेत्र में काम उसके लिए अनुकूल है या नहीं। आप इससे बेहतर करने में सक्षम हो सकते हैं, लेकिन यह तब होगा जब आप दूसरों के प्रति आकर्षित होने के बजाय अपने व्यक्तित्व को समझने की कोशिश करेंगे। वह अपनी आंतरिक प्रतिभाओं को सामने लाकर उस दिशा में आगे बढ़ेगा।

शोध प्राविधि:-सामाजिक विज्ञान अनुसन्धान (भाग – 2)

सभी सफल मानव अपने कौशल को नियत समय में पहचानने में सक्षम रहे हैं। ऐसी स्थिति में, हमें अपनी प्रतिभा को पहचानने और भविष्य के आधार पर अपने हित के क्षेत्र बनाने के कार्य में भाग लेने की आवश्यकता है। हम जिस क्षेत्र के लायक हैं, उसकी दिशा में कड़ी मेहनत करेंगे, इसलिए हमारी स्थिति को बदलने में समय नहीं लगेगा।

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *